Font Size, Font Style, Font Type क्या है?

Font size kya hai

1. फॉन्ट साइज (Font size)

Document के पूरे भाग या उसके किसी भी भाग का Font साइज बदला जा सकता है। आमतौर पर पेज पर दो या तीन फॉन्ट साइज का प्रयोग करना अच्छा माना जाता है। शीर्षक के लिये बड़ा फॉन्ट साइज, टैक्स्ट के लिये सामान्य आकार तथा टिप्पणी आदि के लिये छोटा फॉन्ट साइज का प्रयोग किया जा सकता है.

फान्ट साइज को बदलने के लिये निम्नलिखित चरणों का अनुसरण किया जाता है.

  • सबसे पहले उस टैक्स्ट को चुनते हैं। जिसका फॉन्ट साइज बदलना है.
  • Format मेन्यू से font विकल्प पर क्लिक करते हैं तो फॉन्ट डायलॉग बॉक्स प्रकट होता है.
  • आवश्यकतानुसार फॉन्ट को चुनते हैं तथा OK बटन पर क्लिक करते हैं, तो आवश्यक परिवर्तन चुने हुये डॉक्यूमेन्ट पर दिखायी देने लगते हैं.

2. फॉन्ट स्टाइल (Font style)

इसका प्रयोग करके टैक्स्ट को अधिक प्रभावी बनाया जाता है। सामान्यत: चार फॉन्ट स्टाइल उपलब्ध रहती है। जैसे- Bold, Italic, Underline or Regular इन चारों स्टाइलों में से जिसका भी प्रयोग किया जायेगा, सम्बन्धित टैक्स्ट उसके अनुरूप ढल जाता है.

फॉन्ट स्टाइल का प्रयोग करने के लिये निम्नलिखित चरणों का अनुसरण किया जाता है.

  • सबसे पहले उस टैक्स्ट को चुनते हैं जिसका फॉन्ट स्टाइल बदलना है.
  • फॉर्मेट मेन्यू से फॉन्ट विकल्प पर क्लिक करते हैं तो फॉन्ट डायलॉग बॉक्स प्रकट होता है.
  • आवश्यकतानुसार फॉन्ट स्टाइल को चुनते हैं तथा OK बटन पर क्लिक करते हैं, तो आवश्यक परिवर्तन चुने हुये डॉक्यूमेन्ट पर दिखायी देने लगता है.

3. फॉन्ट टाइप (Font type)

फॉन्ट टाइप का प्रयोग करने के लिये निम्नलिखित चरणों का अनुसरण करना पड़ता है.

  • टैक्स्ट को चुनते हैं.
  • फार्मट मेन्यू से फॉन्ट विकल्प पर क्लिक करते हैं तो फॉन्ट डायलॉग बॉक्स प्रकट जाता है.
  • आवश्यकतानुसार उपलब्ध फॉन्ट टाइप चुनते हैं.
  • अन्त में OK बटन पर क्लिक करते ही डॉक्यूमेन्ट पर आवश्यक परिवर्तन स्पष्ट दिखायी देने लगता है.

यहाँ विभिन्न फॉन्ट उपलब्ध होते हैं। जैसे- Arial, Times new roman आदि। इसके अलावा हिन्दी में टाइपिंग के लिये भी फॉन्ट टाइप जैसे-देवनगरी लिपि होता है.

Leave a Comment