File Transfer Protocol : FTP सर्वर एक ऐसा कम्प्यूटर होता है जो अपनी डिस्क पर सूचना एकत्रित करके रखता है। इस कम्प्यूटर पर एकत्रित सूचनिा यूजर्स के लिये उपलब्ध होती हैं,

ftp kya he

आपका बहुत-बहुत स्वागत है हमारे इस Blog पर और आज हम सीखने वाले हैं, File Transfer Protocol (FTP) के बारे में जिनके बारे में आपको जानना जरूरी है, अगर आप कंप्यूटर सीखना चाहते हैं. यह Internet का बहुत ही महत्वपूर्ण भाग है जो की Website के निर्माण के दौरान इसकी आवश्यकता पड़ती है.

आज के इस Article में आपको बहुत ही आसान भाषा में  Data transmission protocol  के बारे में जानने को मिलेगा और कैसे काम करते हैं आपको सभी जानकारी आज पढ़ने को मिलेगी.

File Transfer Protocol क्या है

जो Internet पर उपस्थित फाइल ट्रांसफर प्रोटोकाल (FTP) के द्वारा किया जाता है। जिसमें फाइल ट्रांसफर प्रोटोकाल (FTP) इन्टरनेट से जुड़े किसी एक कम्प्यूटर की फाइल्स को इन्टरनेट से जुड़े किसी अन्य कम्प्यूटर पर ट्रांसफर करता है। FTP, TCP/IP प्रोटोकाल समूह का ही एक सदस्य है।

FTP का मख्य प्रतियोगी HTTP है। HTTP दिन प्रतिदिन लोकप्रिय होता जा रहा है, क्योंकि यह वे सभी कार्य तो कर ही सकता है, जो FTP कर सकता है, साथ ही वह अनेक ऐसे कार्य भी कर सकता है जो FTP नहीं कर सकता। लेकिन उल्लेखनीय है कि FTP को फाइल ट्रांसफर के लिये उपयोग में लिया जाता है। Internet से जुड़े हुये यूजर्स को फाइल ट्रांसफर करने की सुविधा प्रदान करने के लिये बहुत सारे FTP सर्वर्स पूरे विश्व में स्थापित किये गये हैं।

ftp in hindi

FTP की कार्यविधि-

FTP क्लाइन्ट/सर्वर तकनीक का ही पालन करता है। कोई यूजर अपने Computer पर FTP प्रोग्राम चलाता है, उसे रिमोट कम्प्यूटर से कनैक्ट करने के लिये निर्देश देता है तथा उसके बाद एक या अधिक फाइल्स को स्थानान्तरित करने का निर्देश देता है।

स्थानीय कम्प्यूटर पर चल रहा FTP प्रोग्राम किसी क्लाइंट के समान कार्य करता है जो FTP सर्वर प्रोग्राम से सम्पर्क बनाने के लिये TCP का उपयोग करता है।

जब User किसी Files को Transfer करना चाहता है तो क्लाइंट प्रोग्राम तथा सर्वर Program आपस में मिलकर Internet के माध्यम से उस फाइल की एक कॉपी स्थानान्तरित कर देते हैं। जिस फाइल को यूजर ने माँगा है, उस फाइल को FTP सर्वर ढूँढता है और फाइल के सारे कन्टेन्टस की कापी को TCP के द्वारा इन्टरनेट के माध्यम से क्लाइंट तक पहुँचा देता है। जब क्लाइंट प्रोग्राम के पास डाटा आ जाता है तो वह यूजर के कम्प्यूटर की डिस्क पर उस फाइल के डाटा को लिख देता है। FTP के मुख्य दो कार्य निम्नलिखित हैं.

(1) फाइल अपलोड करना- (File Upload)

Internet पर जब User अपने कम्प्यूटर से किसी रिमोट कम्प्यूटर पर File Transfer करता है तो यह प्रक्रिया File Uploading कहलाती है। हम फाइल्स को केवल तभी अपलोड कर सकते हैं जब हम FTP सर्वर के प्रमाणिक यूजर हों।

(2) फाइल डाउनलोड करना- (File Download)

यह File Downloading के विपरीत प्रक्रिया Downloading है। इसमें फाइलों को किसी रिमोट Computer से अपने कम्प्यूटर पर File किया जाता है। इसके लिये यूजर को FTP Server पर किसी विशेष एकाउंट की आवश्यकता नहीं होती.


कुछ महत्वपूर्ण Post:

हम आशा करते हैं कि आपको यह Article पढ़ के मजा आया होगा इस आर्टिकल में हमने File Transfer Protocol क्या है? के बारे में आपको जानकारी दी है, अगर आपको लगता है कि कोई जानकारी हमसे छूट गई हो तो कृपया कर उसे Comment में हमसे साझा करें.

अगर आपको यह Article Helpful रखता है तो आप इस आर्टिकल को अपने मित्रों के साथ और घर के सदस्यों के साथ Share कर सकते हैं और उन्हें भी कंप्यूटर की जानकारी दे सकते हैं.

आप हमारे Blog से Computer के बारे में बहुत कुछ सीख सकते हैं एस Blog पर कंप्यूटर की सभी जानकारी के बारे में बताया जाता है वह भी बहुत आसान भाषा में धन्यवाद आपका इस आर्टिकल को पढ़ने के लिए.

Previous articleWhat is Computer Virus? Computer Virus क्या है
Next articleData Transmission Protocol क्या है? DTP Hindi
मेरा नाम राम है और मैं इस वेबसाइट को मैनेज करता हूं. मेरी बचपन से ही Computer में बहुत ही अधिक रुचि थी, और मैं पिछले 5 साल से कंप्यूटर के बारे में सीख रहा हूं सीखते सीखते मैंने यह सोचा क्यों ना मुझे यह सब जानकारी मेरे उन दोस्तों के साथ शेयर करनी चाहिए जो कि कंप्यूटर के बारे में सीखना चाहते हैं और अपनी जिंदगी में आगे बढ़ना चाहते हैं यही कारण है कि हमने यह ब्लॉग आप लोगों के लिए बनाया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here